Educational

GK कैसे तैयार करे |

प्रतियोगिया परीक्षा की तैयारी में GK ( सामान्य ज्ञान ) अपनी एक अति महत्वपूर्ण जगह रखता है | ऐसे में कुछ Students जो घर बैठे परीक्षा की तैयारी करना चाहते है | उनके सामने यह प्रश्न आता है की GK kaise Taiyar karen . Basic से GK की तैयारी करने के लिए क्या करना चाहिए |

आज के इस Post में हम आपको बताएँगे की घर बैठे GK कैसे तैयार कर सकते है | इस पोस्ट में हम आपको केवल अपने तरीके को बताने वाले है की हम GK कैसे तैयार करते है | आप हमारी इस Method को Follow करके देख सकते है | यदि आपको हमारी Method पसंद आती है तो आप इसे Continue Follow करें अगर नही पसंद आती है तो आप अपने लेवल से जो तरीका आपको पसंद आये उसे ही Follow करें |

किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए आप एक बात का ध्यान रखें की ऐसा कोई Teacher नही है जो आपको पढ़ा सके | जब तक आपकी पढने की इच्छा नही होगी आप खुद से मेहनत नही करेंगे तब तक आप सफल नही होंगे |

GK Kaise Taiyar Karen

हम बेसिक से अपना GK तैयार करने के लिए निम्न लिखित पांच स्टेप को फॉलो करते है –

  1. N.C.E.R.T की किताब पढना
  2. Youtube पर टॉपिक से जुडी थ्योरी क्लास पढना
  3. वेबसाइट , एप्लीकेशन या youtube पर टॉपिक से जुड़े टेस्ट अटेंड करना
  4. हैण्डराइटिंग नोट्स तैयार करना
  5. फिर से टेस्ट अटेंड करना

NCERT की किताब पढना

GK इतिहास में Basic Clear करने के लिए मैं सबसे NCERT की किताब पढ़ता हूँ | यदि आप नही जानते की NCERT क्या होता है तो आपको पहले NCERT के बारे में पढ़ लेना चाहिए |

NCERT में सबसे पहले मैंने कक्षा 6 की “हमारे अतीत -1” किताब में प्रागैतिहासिक काल के बारे में पढ़ा | इस पुस्तक में बहुत ही आसन शब्दों में प्रागैतिहासिक काल को आप पढ़ सकते है |

Youtube पर पढ़ा

NCERT में प्रागैतिहासिक काल को पढने के बाद Youtube पर थ्योरी क्लास “प्रागैतिहासिक काल” Topic को पढ़ा | Youtube पर Search करने पर कई Youtube चैनल पर इसके बारे में पढने को मिल जाता है |यहाँ पढने से NCERT में पढ़ा गया Basic Knowledge पूरी तरह से Clear हो जाता है |

टेस्ट अटेंड करना

सम्बन्धित Topic से जुड़े Test को youtube , Mobile Apps और Website पर अटेंड किया जिससे यह पता चला की मुझे कितने प्रश्नों के जवाब अच्छे से आते है | यह टेस्ट देते समय इस बात का मैंने ध्यान रखा की जिस चैनल से मैं थ्योरी पढ़ा हूँ उसी चैनल का टेस्ट मैं नही दिया |क्यूंकि जिस चैनल से मैं थ्योरी पढ़ा हूँ हो सकता है वह टेस्ट में भी उन्ही सवालों को शामिल करें जिनके बारे में उन्होंने थ्योरी में जोर देकर पढ़ाया हो |

दुसरे चैनल पर भिन्न भाषा तथा शब्दों का उपयोग कर प्रश्न पूछे गये थे जो की मुझे परीक्षा में काफी मदद करेंगे | लगभग 5 से 6 टेस्ट मैं प्रत्येक टॉपिक के देता हूँ | चाहे मुझे प्रश्नों के जवाब आये या न आये लेकिन सभी प्रश्नों को ध्यान से पढ़ा |

हैंडराइटिंग नोट्स बनाना

ऊपर हम आपको बताये हे की चाहे हमें प्रश्नों के जवाब आये या न आये हमने सभी प्रश्नों को ध्यान से पढ़ा | यह प्रश्न हमें नोट्स बनाते समय यह बताये की हमें कौन से पॉइंट को हमारे नोट्स में लिखना चाहिए |

NCERT बुक्स और youtube क्लास को वापस से पढ़ा और पढ़ते समय उन सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं को कागज में नोट किया जो की हमें पढने की आवश्यकता है |

नोट्स बनाते वक्त इस बात का ध्यान रखा की मुझे केवल वही पॉइंट नोट करना है जो की मेरे लिए परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण है ( मैंने जो टेस्ट दिए थे उनसे मुझे यह पता चला की परीक्षा में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते है )| ऐसा इसलिए किया ताकि परीक्षा के समय मैं कम समय में पुरे नोट्स अच्छे से पढ़ सकूं |

नोट्स बनाने के लिए मैं पेपर पेन का ही उपयोग किया हूँ | यदि मैं किसी साईट से इस टॉपिक की पीडीऍफ़ डाउनलोड करता तो यह पीडीऍफ़ मेरे फ़ोन की मेमोरी में सेव रहती जबकि मुझे चाहिए की मैं इन नोट्स को अपने दिमाग की मेमोरी में सेव रखूं |

नोट्स बनाते समय मेने कॉपी की बजाये पेपर का उपयोग किया ताकि कल से यदि कोई नया पॉइंट या महत्वपूर्ण बात मुझे इन पॉइंट्स में शामिल करना हो तो मैं आसानी से नया पेज जोड़ कर इन पॉइंट्स को अपने नोट्स में जोड़ सकता हूँ | जबकि ऐसा मुझे कॉपी में करने में परेशानी हो सकती थी |

फिर टेस्ट दिया

जो भी नोट्स मैं बनाया हूँ उनको पढ़ा और फिर से टेस्ट दिया पर इस बारे मेरे अन्दर एक उत्साह था | शुरुवात बहुत ही शानदार थी | मैं टेस्ट में कई सारे प्रश्नों के जवाब दे सका |

जिन सवालों के जवाब मुझे नही आये मैं अपने नोट्स में पढ़ा और फिर से टेस्ट दिया | हां … अब रिजल्ट कुछ ठीक था |

मैं इसी तरह सभी टॉपिक को पढ़ता गया नोट्स बनाता गया और टेस्ट देता गया | कुछ ही महीनो में मेरे नोट्स एक बड़ी किताब का रूप ले चुके थे अब मैं सभी टॉपिक के कंबाइन टेस्ट देने लगा | GK मेरा पसंदीदा विषय बनता गया |लेकिन GK जितना भी पढो कम होता है | हर टॉपिक में अक्सर कई प्रश्न अभी भी ऐसे देखने को मिल रहे है जिनका जवाब मुझे याद नही होता और मैं उनके जवाब खोजकर नोट्स में जोड़ता रहता है |

अब जिस भी परीक्षा की तैयारी कर रहे है उसका सिलेबस निकालिए टॉपिक सेलेक्ट कीजिये ,पढिये , नोट्स बनाये और टेस्ट देते रहे | कभी यह मत सोचिये की आपको सब कुछ आता है | क्यूंकि सबकुछ तो उनको भी नही आता है जिनको सबकुछ आता है तो फिर हमको सबकुछ कैसे आ सकता है |फिर भी आपको लगता है की आपको सबकुछ आता है तो हे प्रभु आप कहाँ है हमें कमेंट करें हम भी आपके ज्ञान रूपी सागर में डुबकी लगाना चाहते है |

Final Word –

तो इस पोस्ट में आपने जाना GK कैसे तैयार करें ( GK Kaise Taiyar Karen ) | यह पोस्ट आपको पसंद आये या न आये यह तो आपके ऊपर निर्भर करता है | हमारे नये पोस्ट की जानकारी की लिए आप चाहे तो हमसे सोशल मीडिया पर जुड़ सकते है | वैसे पूरा पोस्ट पढने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद ….

हमारी नई पोस्ट की जानकारी के लिए हमसे टेलीग्राम पर जुड़े

Join Telegram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *