रासायनिक समीकरण किसे कहते हैं | Rasayanik Samikaran Kise Kahate Hain

Rasayanik Samikaran Kise Kahate Hain – इस पोस्ट में हम पढ़ेंगे रासायनिक समीकरण के बारे में | यदि आप भी जानना चाहते है की रासायनिक समीकरण किसे कहते है , रासायनिक समीकरण को कैसे लिखा जाता है एवं रासायनिक समीकरण कितने प्रकार के होते है | तो यह पोस्ट आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकती है |

Rasayanik Samikaran Kise Kahate Hain
Rasayanik Samikaran Kise Kahate Hain

रासायनिक समीकरण किसे कहते है

ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसको समीकरण के रूप में उसके अभिकारक तथा उत्पाद को प्रतिको के रूप में व्यक्त किया जाता है | उसे रासायनिक समीकरण कहा जाता है इसको हम एक सरल शब्दों में समझते है तो इसमे दो अभिकारको को मिलाने से एक उत्पाद बनता है |

जैसै – चुना + पानी = बुझा हुआ चुना | अत: इसमे चुना व पानी एक अभिकारक है और बुझा हुआ चुना एक उत्पाद है

समीकरण के रूप में –

चुना + पानी = बुझा हुआ चुना

CaO + H2o = Ca(OH)2

रासायनिक अभिक्रिया

जब एक या एक से अधिक पदार्थ परस्पर अभिक्रिया करके भिन्न – भिन्न गुण धर्मो वाले नये पदार्थ का निर्माण करते है तो इस प्रकार की घटना को रासायनिक अभिक्रिया कहते है |

उदाहरण –

2Mg +  O2  = 2 MgO

मैग्नीशियम +आक्सीजन = मैग्नीशियम आक्साइड

यह भी पढ़े –

रासायनिक समीकरण को कैसै लिखा जाता है

  • रासायनिक समीकरण को लिखने के लिए सर्वप्रथम हम को जो अभिकारक उस अभिक्रिया में भाग ले रहे है उनके नाम तथा सूत्र ज्ञात होना आवश्यक है उसके बाद जो उत्पाद बनता है उसका नाम व सूत्र ज्ञात होना चाहिए
  • रासायनिक समीकरण में पदार्थ हमेशा अणु के रूप में लिखे जाते है जेसे – आक्सीजन ,नाइट्रोजन , हाइड्रोजन आदि को हम O2 , N2 , H2 , लिखा जाता है क्यों की यह सभी गैसे दो परमाणु होते है | एक परमाणु तत्वों को उनके प्रतीक के द्वारा लिखा जाता है जैसे – कॉपर ,मैग्नीशियम, तथा सोडियम को Cu , Mg , Na द्वारा प्रदशित किया जाता है
  • रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले अभिकारको को प्रतिको अथवा सूत्रों द्वारा बायीं और लिखा जाता है व विभिन्न अभिकारको के बिच धन का चिन्ह लगा दिया जाता है |
  • रासायनिक अभिक्रिया के बाद प्राप्त उत्पाद को प्रतिक तथा सूत्रों के द्वारा दाहिनी और लिखा जाता है तथा बहुत से उत्पाद के बिच धन का चिन्ह लगा दिया जाता है |
  • अभिकारको और उत्पादों के बिच एक तीर का निशान लगाया जाता है | तीर का मुह हमेशा उत्पाद की और होता है जो की अभिक्रिया की दिशा को प्रदशित करता है

जैसे –

CaO  + H2o = Ca(OH)2

  • यदि अभिक्रिया उत्क्रमणीय है तो बायीं और दाई दोनों दिशाओ में होती है तो दोनों दिशाओ को अर्ध शीर्ष वाले तीर के निशान से प्रदर्शित करते है | इसप्रकार प्राप्त समीकरण एक ढांचा समीकरण कहलाती है इसमे दाई और बाई और लिखे तत्वों के परमाणु की संख्या समान भी हो सकती है और चेंज भी हो सकती है |

यह भी पढ़े –

रासायनिक समीकरण कितने प्रकार की होती है

👉 संयोजन अभिक्रिया – अब दो या दो से अधिक अभिकारक अभिक्रिया करके एक ही उत्पाद का निर्माण करती है तो इस अभिक्रिया को स्योजन अभिक्रिया कहते है |

👉 वियोजक अभिक्रिया – जब एक अभिकारक टूटकर दो या दो से अधिक उत्पाद का निर्माण करे तो इस अभिक्रिया को वियोजक अभिक्रिया कहते है |

👉 विस्थापन अभिक्रिया – जब कोई तत्व किसी अन्य तत्त्वों को उसके योगिक से दूर कर देता है तथा स्वयम उसके स्थान पर आ जाता है तो उसे विस्थापन अभिक्रिया कहते है |

👉 दोहरी विस्थापन अभिक्रिया – जब दो योगिक अपने आयनों का आदान प्रदान करके दो नये योगिक का निर्माण करता है तो इस क्रिया को ही दोहरी विस्थापन अभिक्रिया कहते है |

👉 उपचयन अभिक्रिया – जिस अभिक्रिया में आक्सीजन का योग होता है उसे उपचयन अभिक्रिया कहते है |

👉 अपचयन अभिक्रिया – जिस अभिक्रिया में आक्सीजन का हास् होता है उसे अपचयन अभिक्रिया कहते है |

👉 रेडाक्स अभिक्रिया – ऐसी अभिक्रिया जिसमे उपचयन एवम अपचयन दोनों ही अभिक्रिया साथ – साथ होती हो उसे रेडाक्स अभिक्रिया कहते है |

संतुलित रासायनिक समीकरण किसे कहते है

ऐसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे अभिकारक एवं उत्पादों के कुल द्रव्यमान समान हो तो उसे संतुलित रासायनिक समीकरण कहते है |

इस समीकरण के द्वारा हम न केवल समीकरण की वास्तविक जानकारी प्राप्त कर सकते है बल्कि अभिकारक और उत्पाद की वास्तविक संख्या की जानकारी भी प्राप्त कर सकते है |

द्रव्यमान – संरक्षण के नियम के अनुपालन के लिए रासायनिक समीकरण को संतुलित करना आवश्यक है

असंतुलित रासायनिक समीकरण किसे कहते है

ऐसी रासायनिक समीकरण जिसमे अभिकारको तथा उत्पादों में एक या एक से अधिक तत्वों के परमाणुओ की संख्या असमान रहती है असंतुलित रासायनिक समीकरण कहते है |

जैसे –

Mg + O2 = MgO

मैग्नीशियम + आक्सीजन = मैग्नीशियम आक्साइड

इसमे मैग्नीशियम आक्सीजन की परमाणु संख्या भिन्न – भिन्न होने के कारण यह अभिक्रिया असंतुलित रासायनिक समीकरण कहलाती है |

Final Word – तो इस पोस्ट में हमने पढ़ा रासायनिक समीकरण किसे कहते है , रासायनिक अभिक्रिया क्या है , रासायनिक समीकरण कैसे लिखी जाती है , रासायनिक समीकरण के प्रकार | उम्मीद करते है की यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी | कृपया इसे अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें | और हमारे अगले पोस्ट की अपडेट पाने के लिए कृपया हमसे टेलीग्राम पर जुड़े |

यह भी पढ़े –

Leave a Comment

Your email address will not be published.

******** -------- *******

हमारी नई पोस्ट की जानकारी के लिए हमसे टेलीग्राम पर जुड़े

Join Telegram

error: मेहनत कीजिये , ऐसे कॉपी पेस्ट करने से कुछ नही मिलेगा !!