अम्ल किसे कहते है | Amal kise kahate hain

Amal kise kahate hain – इस पोस्ट में हम अम्ल के बारे में पढ़ेंगे | यहाँ हम जानेंगे अम्ल किसे कहते है , अम्ल क्या होता है , अम्ल के भौतिक गुण क्या है , अम्ल के रासायनिक गुण क्या है , अम्लो के रासायनिक नाम क्या है , अम्लों के उपयोग तथा अम्ल वर्षा क्या है | यदि आप भी अम्ल के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो कृपया इस पोस्ट को पूरा पढ़ें |

Amal kise kahate hain
Amal kise kahate hain

अम्ल किसे कहते है

ऐसे रासायनिक पदार्थ जो स्वाद में खट्टे होते है तथा अपने जलीय विलयन में H पल्स आयन मुक्त करते है तथा नीले लिटमस पेपर को लाल कर देते है व जिनका PH मान 7 से कम होता है व धातु के साथ अभिक्रिया से हाइड्रोजन गैस व लवण का निर्माण करते है , अम्ल कहलाते है | जैसे – इमली , टमाटर , नीबू आदि |

अम्लो के भौतिक गुण

अम्लो के भौतिक गुण निम्नलिखित है –

  • (A) अम्ल नीले लिटमस पेपर को लाल कर देते है |
  • (B) अम्ल स्वाद में खट्टे होते है |
  • (C) अम्ल जल में विलेय होते है |

यह भी पढ़े-

अम्लो के रासायनिक गुण

अम्लो के रासायनिक गुण निम्नलिखित प्रकार के है |

(A) धातुओ के साथ अभिक्रिया – अधिकतम अम्ल धातुओ के साथ अभिक्रिया करके लवण बनाते है तथा हाइड्रोजन गैस उत्पन्न होती है |

(B) धातु कार्बोनेट के साथ अभिक्रिया – अम्ल धातु कार्बोनेट को अपघटित करके लवण तथा कार्बन डाई आक्साइड गैस देते है |

अम्ल के प्रकार

आयनन के अनुसार अम्ल को दो भागो में बाटा गया है |

( अ ) प्रबल अम्ल – ऐसे अम्ल जो जल में पूर्णत: टूट जाते है प्रबल अम्ल कहलाते है खनिज अम्ल प्रबल अम्ल होते है |

जैसे –

  • हाइड्रोक्लोरिक अम्ल ( Hcl )
  • सल्फ्यूरिक अम्ल ( H2 SO4) ,
  • नाइट्रिक अम्ल (HNO3 )
  • अपवाद – कार्बोनिक अम्ल ( H2CO3 )

( ब ) दुर्बल अम्ल – ऐसे अम्ल जो जल में पूर्णता: नही टूटते है दुर्बल अम्ल कहते है सामान्यतया कार्बनिक अम्ल दुर्बल अम्ल कहलाते है

जैसे –

  • टार्टरिक अम्ल – इमली में |
  • सिट्रिक अम्ल – संतरे में |
  • लेक्टिक अम्ल – दही में |
  • एसीटीक अम्ल – सिरके में |
  • आक्सेलिक अम्ल – टमाटर में |

अम्ल के उपयोग

नाइट्रिक अम्ल , हाइड्रो क्लोरिक अम्ल तथा सल्फ्यूरिक अम्ल व्यावसायिक दृष्टि से अत्यन्त महत्वपूर्ण है इन अम्लो के प्रमुख उपयोग निम्नलिखित है |

👉 ( अ ) नाइट्रिक अम्ल – इसको सोने तथा चांदी के शोधन में प्रयुक्त किया जाता है और उर्वरक , विस्पोटक प्रदार्थ बनाने , में भी इसका प्रयोग किया जाता है |

👉 ( ब ) हाइड्रो क्लोरिक अम्ल – इसका उपयोग वस्त्र उधोग में कपडा रंगने के लिए तथा कलई से पूर्व लोहे की चादरों को साफ करने के लिए प्रयोग किया जाता है |

👉 ( स ) सल्फ्यूरिक अम्ल – लेड स्टोरेज बेट्रियो में ,प्लास्टिक उधोग में , पेट्रोलियम उधोग में , कृतिम रेशे बनाने में , उर्वरक निर्माण आदि में प्रयुक्त किया जाता है |

अम्ल के स्त्रोत

  1. सिरका – एसिटिक एसिड
  2. सेब – मौलिक एसिड
  3. अंगूर – टास्टेरिक एसिड
  4. इमली, अंगूर , कच्चा आम – टास्टेरिक एसिड
  5. खट्टे फल – साइट्रिक एसिड
  6. दूध – लेक्टिक एसिड
  7. दही – लेक्टिक एसिड
  8. बिच्छु के डंक में व सांप – फार्मिक एसिड
  9. लाल चीटी के डंक में – फार्मिक एसिड
  10. मूत्र – यूरिक एसिड
  11. आवंला , अमरूद – एस्कारबिक एसिड
  12. कार्बोनिक अम्ल – सोडा वाटर
  13. आमाशय में – HCL

यह भी पढ़े-

अम्ल के रासायनिक नाम

क्र. अम्ल रासायनिक नाम सूत्र
01खाने का सोडा सोडियम बाई कार्बोनेट NaHCO3
02धोने का सोडा सोडियम कार्बोनेटNa2CO3
03जिप्सम केल्शियम सल्फेटCaSO4.2H2O
04नीला थोथा कॉपर सल्फेट CuSO4
05नौसादर अमोनियम क्लोराइड NH4Cl
06फिटकरी पोटेशियम एल्युमिनियम सल्फेटK2SO4Al2(SO4)3.24H2O
07बुझा हुआ चुना केल्शियम हाइड्रोक्साइड CA (OH)2
08लाफिग गैसे नाइट्रस आक्साइड N2O
09लाल दवा पोटेशियम परमेगनेट KmnO4
10लाल सिंदूर लेड परआक्साइड Pb304
11शौरा पौटेशियम नाइट्रेट KNO3
12सिरका एसिटीक एसिड का तनु घोल CH3COOH
13सुहागा बोरेक्सNa2B4O7.10H2O
14स्प्रिट मैथिल एल्कोहल CH3OH
15हरा कसीस फेरिक सल्फेट Fe2(SO4)3
अम्ल के रासायनिक नाम

अम्ल वर्षा क्या है

वायु प्रदूषक के कारण वायुमंडल में उपस्थित सल्फ़र एवं नाइट्रोजन के आक्साइड वायु में उपस्थित जल वाष्प से क्रिया करके क्रमश: गंधक अम्ल और नाइट्रिक अम्ल का निर्माण करते है | यह अम्ल वर्षा के जल के साथ मिलकर जब धरती पर गिरता है तो इसे ही अम्ल वर्षा के नाम से जाना जाता है |

अम्ल वर्षा होने का कारण

अम्ल वर्षा के होने का मुख्य कारण आज कारखानों व फेक्त्रियो से छोडी जा रही अत्यंत हानिकारक गैसे व रेफ्रिजरेटर के द्वारा निकलने वाली क्लोरो – फ्लोरो कार्बन के कारण मुख्य है |

अम्ल वर्षा होने से हानी

अम्ल वर्षा होने से कही प्रकार की हानिया होती है जिसमे नदियों , तालाबो और झीलों का जल पिने योग्य नही रहता है तथा जल में रहने वाले जीव मछलिया , केकड़े एवम अनेको जलीय जीव और वनस्पति पर भी इसका दुष्प्रभाव पड़ता है |

यह भूमि की उर्वरक क्षमता को भी कम कर देता है | अम्ल वर्षा के कारण ताजमहल का भी संक्षारण हो रहा है तथा ताजमहल का रंग पिला पद रहा है |

अम्ल वर्षा का प्रभाव

  • अम्लीय वर्षा से मानव के स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पद रहा है |
  • अम्ल वर्षा से संगमरमर और पत्थर की बनी मूर्तियों का भी संक्षारण होता है |
  • अम्ल वर्षा से भूमि भी प्रदूषित होती है और जिसका असर फल , फुल , पेड़ – पौधो पर पड़ता है |

Final Word – तो इस पोस्ट में हमने पढ़ा अम्ल किसे कहते है | Amal kise kahate hain , अम्ल के उपयोग, अम्ल के रासायनिक गुण , अम्ल के भौतिक गुण , अम्ल के रासायनिक नाम एवं अम्ल वर्षा के बारे में | उम्मीद करते है यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी | कृपया इस पोस्ट को अपने साथियों के साथ भी जरुर शेयर करें और हमारे अगले पोस्ट की जानकारी के लिए टेलीग्राम पर जुड़े |

यह भी पढ़े-

Leave a Comment

Your email address will not be published.

******** -------- *******

हमारी नई पोस्ट की जानकारी के लिए हमसे टेलीग्राम पर जुड़े

Join Telegram

error: मेहनत कीजिये , ऐसे कॉपी पेस्ट करने से कुछ नही मिलेगा !!